• Quickies

    Roz palke bhigote hai

    Kal bhi rote the aaj bhi rote h ,
    Kismat hi aisi likhi h khuda ne ki us roz palke bigote h .

    कल भी रोते थे आज भी रोते है ,
    किस्मत ही ऐसी लिखी है खुदा ने की रोज़ पलके भिगोते है ।