• Quickies

    Manzar us bewafai ka

    सबब आशिकी का तब समझ उसको आएगा ,

    जब दर्द आशिकी का उसके दिल में उठता जायेगा ,

    सभाल नहीं पायेगा वो खुद को अकेली तन्हा रातो में ,

    तब मंज़र उस बेवफाई का वो अपने खून से लिखता जायेगा ।

    Sabab ashiqui ka tab samajh usko aayega ,

    Jab dard ashiqui ka uske dil m uthata jayega ,

    Sabhal nhi payega wo khud ko akeli tanha raato m ,

    Tab manzar us bewafai ka wo apne khoon se likhta jayega ,