• Quickies

    Ishq ki aas lagaye ho

    Ankhe uski jaise koi moti chupaye ho ,
    Baate uski jaise koi sehed milaye ho ,
    Sanse uski jaise koi khushboo failaye ho ,
    Hoth uske jaise koi gulab ki pattiya sajai ho ,
    Behakte nahi hum shayar to kya hota aur is dil ka ,
    Irade uske jaise barso se humse hi ishq ki aas lagaye ho .

    आँखे उसकी जैसे कोई मोती छुपाये हो ,
    बाते उसकी जैसे कोई सेहद मिलाये हो ,
    सांसे उसकी जैसे कोई खुश्बू फैलाये हो ,
    होठ उसके जैसे कोई गुलाब की पत्तिया सजाई हो ,
    बहकते नहीं हम शायर तो क्या होता और इस दिल का ,
    इरादे उसके जैसे बरसो से हमसे ही इश्क़ की आस लगाये हो ।