• Quickies

    Ijhare - e - ishq

    नशा नहीं होता अब शराब का जबसे सुरूर छाया है तेरी आँखों के जाम का ,
    झुका नही आगे अब तक जो किसी के उसको झुक दिया जिसने इजहार-ए-इश्क़ उसका नाम था ।

    Nasha nahi hota ab sharab ka jabse suroor chaya hai teri ankho ke jaam ka ,
    Jhuka nahi aage ab tak jo kisi ke usko chuka diya jisne ijehar-e-ishq uska naam tha .