• Quickies

    Jakhm dene ka shok

    वक़्त के हाथो मजबूर है सब यहाँ ,
    किसका ज़ोर चलता है घडी के चलते काँटों पर ,
    जख्म देने का शोक लेके चलते है सब यहाँ ,
    वरना लगता है तुम्हे नज़र न पड़ती होगी गुलाब के साथ दिए काँटो पर ।

    Waqt ke hatho majbur hai sab yaha ,
    kiska zor chalta hai ghadi ke chalte kanto par ,
    jakhm dene ka shok leke chalte hai sab yaha ,
    warna lagta hai tumhe nazar na padti hogi gulab ke sath diye kanto par .